F

मस्त नज़रों से Mast Nazron Se Lyrics in Hindi - Lakhwinder Wadali




मस्त नज़रों से Mast Nazron Se Lyrics in Hindi - Lakhwinder Wadali : This is a latest romantic song sung by Lakhwinder Wadali ft. Sara Khan. Its music is given by Vikram Nagi and lyrics are penned by Ms Abdi. The video is directed by Director Jot and released under Zee Music Company.


मस्त नज़रों से Mast Nazron Se Lyrics in Hindi - Lakhwinder Wadali
मस्त नज़रों से Mast Nazron Se Lyrics in Hindi -
Lakhwinder Wadali


Song Details :
Song : Mast Nazron Se
Singer : Lakhwinder Wadali
Music : Vikram Nagi
Lyrics : Ms Abdi
Label : Zee Music Company




MAST NAZRON SE LYRICS IN HINDI

मस्त नज़रों से
मस्त नज़रों से जिसका पड़ा वास्ता
वो हसीनो के जल्वों पे मारा गया

मस्त नज़रों से जिसका पड़ा वास्ता
वो हसीनो के जल्वों पे मारा गया
हुस्न वालों ने जिसको भी दिल दे दिया
हुस्न वालों ने जिसको भी दिल दे दिया
उसको दीवाना मजनूं पुकारा गया

मस्त नज़रों से जिसका पड़ा वास्ता
वो हसीनो के जल्वों पे मारा गया

आँखें तलवार अबरुहें खंज़र ताले
जुल्फ वलखये तो काली नागिन बने
आँखें तलवार अबरुहें खंज़र ताले
जुल्फ वलखये तो काली नागिन बने

हुस्न वालों के
हुस्न वालों के, रंगी हसीं बदन को
फूलों कलियों की तरह निखारा गया

मस्त नज़रों से जिसका पड़ा वास्ता
वो हसीनो के जल्वों पे मारा गया

शोख जलवों में मस्ती भरी शोखियाँ
हर अदा में है जादू भरी शोखियाँ
शोख जलवों में मस्ती भरी शोखियाँ
हर अदा में है जादू भरी शोखियाँ

हुस्न वालों की
हुस्न वालों की बस्ती में जो आ गया
लौट कर न कभी फिर दोबारा गया

मस्त नज़रों से जिसका पड़ा वास्ता
वो हसीनो के जल्वों पे मारा गया
हुस्न वालों ने जिसको भी दिल दे दिया
हुस्न वालों ने जिसको भी दिल दे दिया
उसको दीवाना मजनूं पुकारा गया

मस्त नज़रों से जिसका पड़ा वास्ता
वो हसीनो के जल्वों पे मारा ग


गीतकार: एम.एस. आबिद


If you find any mistake in this मस्त नज़रों से Mast Nazron Se Lyrics in Hindi ......please comment below.


Watch the video song :





MAST NAZRON SE LYRICS

Mast nazro se
Mast nazron se jiska pada vaasta
Wo hasino ke jalwon pe maara gaya

Mast nazron se jiska pada vaasta
Wo hasino ke jalwon pe maara gaya
Husn walon ne jisko bhi dil de diya
Husn walon ne jisko bhi dil de diya
Usko deewana majnu pukara gaya

Mast nazro se jiska pada vaasta
Wo hasino ke jalwon pe maara gaya

Aankhen talwar abruhein khanzar taale
Julf walkhaye to kali nagin bane
Aankhen talwar abruhein khanzar taale
Julf walkhaye to kali nagin bane

Husn walon ke
Husn walon ke, rangi haseen badan ko
Phoolon kaliyon ki tarha nikhara gaya

Mast nazron se jiska pada vaasta
Wo hasino ke jalwon pe maara gaya

Shokh jalwon mein masti bhari shokhiyan
Har adaa mein hai jadu bhari shokhiyan
Shokh jalwon mein masti bhari shokhiyan
Har adaa mein hai jadu bhari shokhiyan

Husn walon ki
Husn walon ki basti mein jo aa gaya
Laut kar na kabhi phir dobara gaya

Mast nazro se jiska pada vaasta
Wo hasino ke jalwon pe maara gaya
Husn walon ne jisko bhi dil de diya
Husn walon ne jisko bhi dil de diya
Usko deewana majnu pukara gaya

Mast nazro se jiska pada vaasta

Wo hasino ke jalwon pe maara gaya

Written by Ms Abdi

Post a Comment

0 Comments